क्यों सड़कों‬ और ‪गलियों‬ में पशुओं के रक्त की धारायें हर साल में ‪‎बकरईद‬ के दिन पर बहती है।

‪#‎Animal‬‪#‎blood‬ streams flows at streets and lanes in each year on ‪#‎BakrEid‬. Also, the remaining parts of the killed animal generates stench for weeks and linger ‪#‎soul‬ speaks to ‪#‎dystopian‬ for months. All this while, How can #educated #Muslims can share greetings with each other by saying #EidMubarak? Let us assume, that people customized traditional religion along with their animal-eating #habits but, why the death of their entire education takes place on #Bakrid day?

#Secular and #religious politics – that ruling and opposing class does even by killing people just to get #votebank, So, concern and words from their heart for ‘animal protection’ is sound like fake.

#Eid can bring it’s real meaning only when you stop killing animals to display the #Islam in its #primitiveness and also, encourage other people to have a peaceful and #crueltyfree #festival.

Change the habit of Eating Animal and Go #VEGAN!

#Sudesh #Kumar www.sudeshkumar.in

Please, join me via: www.facebook.com/sudesh.kumar.india

#‎सड़कों‬ और ‪#‎गलियों‬ में पशुओं के रक्त की धारायें हर साल में ‪#‎बकरईद‬ के दिन पर बहती है। इसके साथ ही वहां मारे गए जानवरों के बचे हुए हिस्सों से उत्पन्न गंदगी सप्ताह तक दुर्गन्ध मचाते रहते हैं और उनकी ‪#‎भटकती‬ ‪#‎आत्मा‬ महीनो तक ‪#‎मनहूसियत‬ बयान करती है। यह सब करते हुए, पढ़े-लिखे ‪#‎मुसलमान‬ ‪#‎ईदमुबारक‬ कह कर एक दूसरे के साथ ‪#‎ग्रीटिंगस‬ कैसे शेयर कर सकते हैं? चलो हम ये मान ले कि उंन्होंने अपने पारम्परिक धर्म को अपने जानवर-खाने (animal-eating) के आदत के अनुरूप कर लिया पर, उसकी सारी ‪#‎शिक्षा‬ का ‪#‎देहांत‬ ‪#‎बकरीद‬ के दिन ही क्यों हो जाता है?
‪#‎सेक्युलर‬ और ‪#‎धर्म‬ के ‪#‎पॉलिटिक्स‬ करने वाले ‪#‎सत्तारूढ़‬ एवं विरोधी वर्ग – ‪#‎वोटबैंक‬ के लिए लोगों के भी हत्या करते रहते हैं, तो उनके ‘जानवरों के सुरक्षा’ की मंसा और मन की बात को ‪#‎ढोंग‬ से कम नहीं मान सकते। ईद अपना असली अर्थ तभी ला सकता हैं जब आप अपने ‪#‎प्राचीनतावाद‬ ‪#‎इस्लाम‬ प्रदर्शन के नाम पर ‪#‎जानवरों‬ की हत्या बंद करो और अन्य लोगों को भी शांतिपूर्ण और ‪#‎crueltyfree‬ त्योहार बनाने के लिए प्रोत्साहित करें। जानवरों को खाने की आदत छोड़िये और ‪#‎वेजीटेरियन‬ बनिए!

कृपया मुझ से इस पेज के माध्यम से जुड़ें – www.facebook.com/hindistani

‪#‎सुदेश‬ ‪#‎कुमार‬
Email: ask@sudeshkumar.in

http://go.vegan.sudesh.org

 

Advertisements

Leave your opinion @ sudeshkumar.com

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s